शादी का झूठा वादा, रेप, आरोपी टीचर शायिक मोहम्मद जहांगीर पाशा को 10 साल के कठोर कारावास की सजा

जुलाई 2011 में पाशा ने एक अन्य महिला से शादी कर ली। पीड़िता ने जब इस बारे में उससे पूछताछ की तो उसने कहा कि वह अपनी पत्नी से प्यार नहीं करता और उससे शादी करने का वादा किया। इसके बाद वह छात्रा के साथ लगातार रेप करता रहा। पीड़िता 2012 में गर्भवती हो गई तो गर्भपात का भी दबाव बनाया।

शादी का झूठा वादा, रेप, आरोपी टीचर शायिक मोहम्मद जहांगीर पाशा को 10 साल के कठोर कारावास की सजा

हैदराबाद 
हैदराबाद की एक अदालत ने निजी स्कूल के अध्यापक शायिक मोहम्मद जहांगीर पाशा को एक छात्रा से शादी का झूठा वादा करके उसे गर्भवती करने और धोखाधड़ी के दोष में 10 साल के कठोर कारवास की सजा सुनाई है। अदालत ने दोषी पर 60 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

पुलिस ने बताया कि प्रथम विशेष न्यायालय ने दोषी शायिक मोहम्मद जहांगीर पाशा को 10 साल के कठोर कारावास की सजा देते हुए कहा कि पीड़िता को (अब 21 साल की महिला) को जुर्माने की यह राशि बतौर मुआवजा प्रदान की जाए। 

दूसरी औरत से शादी के बाद भी करता रहा रेप 
पुलिस के अनुसार पाशा ने तब स्कूल छात्रा रही पीड़िता से प्यार करने का नाटक किया और 2011 में धोखे से एक होटल में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। जुलाई 2011 में पाशा ने एक अन्य महिला से शादी कर ली। पीड़िता ने जब इस बारे में उससे पूछताछ की तो उसने कहा कि वह अपनी पत्नी से प्यार नहीं करता और उससे शादी करने का वादा किया। 

गर्भपात के लिए भी डाला दबाव 
इसके बाद भी पाशा बाज नहीं आया। उसने कई और मौकों पर उसके साथ बलात्कार किया। पीड़िता 2012 में गर्भवती हो गई। पुलिस ने शिकायत का हवाला देते हुए कहा कि जब पाशा को इसकी जानकारी हुई तो उसने गर्भपात के लिए दबाव डाला लेकिन पीड़िता ने मना कर दिया। इसके बाद पाशा ने उससे शादी करने की बात टाल दी और उस पर चरित्रहीन होने का आरोप लगा दिया। पुलिस ने कहा कि शिकायतकर्ता महिला ने बाद में एक पुत्र को जन्म दिया और उसके डीएनए परीक्षण से साबित हो गया कि पाशा ही इस बच्चे का जैविक पिता है।